इ-टेंडरिंग क्या है ? What is E-tendering?

इ-टेंडरिंग क्या है ?

दोस्तों आज के ब्लॉग में मैं आपको बताऊंगा की इ-टेंडरिंग क्या होता है और और इसके द्वारा टेंडर कैसे भरा जाता हैI इ-टेंडरिंग किसी भी टेंडर को ऑनलाइन भरने की प्रोसेस है पहले किसी भी टेंडर को भरने के लिए टेबल टेंडर जारी किये जाते थे जिसे ऑफलाइन प्रक्रिया कहा जाता है जिसमे किसी भी रूप से कम्प्यूटर या इंटरनेट की आवस्यकता नहीं पड़ती है किन्तु इ-टेंडरिंग में इंटरनेट जरुरी हैचलिए मैं आपको इसकी सामान्य जानकारी देता हु ।

 

 आवेदन की प्रक्रिया  :

१. कांट्रेक्टर रजिस्ट्रेशन :- अप्लाई करने के पहले  जिस भी विभाग का टेंडर में भाग लेना है उसमे रजिस्ट्रेशन जरुरी है । उदारहण देकर बताता हु मैंने मध्य प्रदेश के PWD विभाग का टेंडर लेने के लिए MPPWD  में रजिस्ट्रेशन करवाया है और मै ५ साल के लिए सिविल कांट्रेक्टर  के रूप में MPPWD  के किसी भी टेंडर में भाग ले सकता हु .

pwd

२.GST रजिस्ट्रेशन : इसके लिए आपको GST  की वेबसाइट https://www.gst.gov.in/ पैर जाकर रजिस्ट्रेशन  करवा सकते है इसे कैसे अप्लाई करना है मै इस ब्लॉग के अंत में आपको बताऊंगा.

document for gst

३.डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट(डीएससी) :- ये सर्टिफिकेट इ-टेंडरिंग का सबसे इम्पोर्टेन्ट पहलु है ये एक डिजिटल सर्टिफिकेट है जो की आपकी पहचान और ऑथरिजेशन के लिए होता है क्युकी ऑनलाइन इ-टेंडरिंग इसी के द्वारा अप्पकी प्रोफाइल को वरीफय करता है I ये दो प्रकार के होते है 2nd क्लास और ३र्ड क्लास  DSC .ये आपका विभाग बताएगा की आपको किस क्लास का DSC  लगेगा . आम तौर पर 2nd  क्लास डीएससी कोई व् विभाग SUGGEST  करता है . आपको USB टोकन जो की DSC के साथ आता है उसे व् लेना जरुरी है ब्लॉग के अंत में बताऊंगा की DSC के लिए आवेदन कैसे करना है ?

dsc

 

४.इ-प्रोक्यूर्मेंट की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन : जिस भी विभाग का टेंडर आपको भरना है उस विभाग के द्वारा एक थर्ड पार्टी को ऑनलाइन टेंडरिंग का काम दिया जाता है आपको उस एजेंसी की वेबसाइट पर REGISTRATION करना जरुरी है उसके बाद ही आप ऑनलाइन टेंडरिंग प्रक्रिया में भाग ले सकते है .EXAMPLE के लिए मैंने PWD में टेंडर डालने के लिए https://www.mpeproc.gov.in/ में रजिस्ट्रेशन किया था ।रजिस्ट्रेशन के टाइम आपको DSC की आवस्यकता पड़ेगी इसलिए DSC  पहले ही बनवा ले ।रजिस्ट्रेशन होने के बाद आपको यूजर ID और पासवर्ड दिया जायेगा जिसके द्वारा आप लॉगिन करके टेंडर भर सकते है

MPEPROC.png

५ ब्राउज़र सेटिंग : यूजर ID और पासवर्ड मिलने के बाद आपको ब्राउज़र सेटिंग जरूर करनी पड़ेगी जिसे आप वेबसाइट के मैन्युअल पर जाकर देख सकते है । लॉगिन के लिए जावा का लेटेस्ट वर्शन डाउनलोड कर ले और मैन्युअल के अनुसार जावा की को CONFIGURE कर ले .

फ्रेंडस मैंने जो भी जानकारी दी है वह सब मैंने खुद किआ है और यदि आपको कोई प्रॉब्लम हो रही है तो मुझे कमेंट बॉक्स में बताये?

 

                                                                            About me :

cropped-img_20181114_185140_010-1536466621.jpg

Myself  VIRENDRA PRATAP SONKER, B.E. in Electronic & Communication.10 year experiences in Power Transmission project As an engineer and Manager in Tata Projects Ltd. Presently Running own construction firm AAW pvt. ltd as a Managing Director.

 

रिलेटेड टॉपिक

टेंडर क्या है ?

टेंडर के लिए रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

GST रजिस्ट्रेशन कैसे करे ?

डिजिटल सिग्नेचर(डीएससी) क्या है और कैसे बनबाये?

 

One thought on “इ-टेंडरिंग क्या है ? What is E-tendering?

  1. Pingback: इ-टेंडरिंग क्या है ? What is E-tendering? – Online money making tip's & tricks

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.